विक्रम प्रोसेसर से चलेंगे भविष्य के सभी भारतीय रॉकेट

विक्रम प्रोसेसर से चलेंगे भविष्य के सभी भारतीय रॉकेट

न्यूज़ से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  • एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इसरो ने “विक्रम” नामक एक प्रोसेसर का डिजाइन और निर्माण किया है, जिसका उपयोग भविष्य के सभी भारतीय रॉकेटों में किया जाएगा।
  • विक्रम प्रोसेसर ने ध्रुवीय उपग्रह लॉन्च वाहन-सी 47 (पीएसएलवी-सी 47) रॉकेट का मार्गदर्शन किया, जो भारत के पृथ्वी-इमेजिंग उपग्रह ‘कार्टोसैट -3’ को ले गया।
  • रॉकेट को पहली बार विक्रम प्रोसेसर के साथ फिट किया गया था, जिसे चंडीगढ़ स्थित सेमी-कंडक्टर प्रयोगशाला द्वारा अंतरिक्ष विभाग के तहत डिजाइन, विकसित और निर्मित किया गया था।
  • भारत में रॉकेट के दो परिवार हैं। पीएसएलवी और जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (जीएसएलवी)। इसरो 500 कि. ग्रा. के उपग्रह ले जाने की क्षमता वाला एक छोटा सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (एसएसएलवी) भी विकसित कर रहा है।
  • विक्रम प्रोसेसर का उपयोग रॉकेट के नेविगेशन, मार्गदर्शन और नियंत्रण व सामान्य प्रसंस्करण अनुप्रयोगों के लिए भी किया जाता है।

उपरोक्त समाचार पर आधारित अति महत्वपूर्ण संभावित प्रश्नावली:

  1. ISRO के पहले स्वदेशी रूप से डिज़ाइन किए गए प्रोसेसर का नाम बताइए, जिसने हाल ही में PSLV-C47 रॉकेट का मार्गदर्शन किया है? विक्रम
  2. PSLV का पूर्ण रूप क्या है? ध्रुवीय उपग्रह लॉन्च वाहन

Click here to read in English

NO COMMENTS:

Your email address will not be published. Required fields are marked *