भारतीय मिल्क चिलिंग यूनिट के लिए भारतीय 'ब्रिक्स-यंग इनोवेटर प्राइज' जीता

भारतीय मिल्क चिलिंग यूनिट के लिए रवि प्रकाश ने ‘ब्रिक्स-यंग इनोवेटर प्राइज’ जीता

न्यूज़ से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  • रवि प्रकाश को BRICS Young Innovator प्राइज़ दूध को ठंडा रखने वाली एक Milk Chilling Device बनाने के लिए दिया गया.
  • इस प्राइज़ की कीमत 25,000 हज़ार US डॉलर है.
  • रवि प्रकाश के PhD स्कॉलर हैं और उन्होंने ICAR- National Dairy Research Institute(NDRI) से पीएचडी की.
  • वो उस 21 सदस्यों वाले दल का हिस्सा थे, जिसे Department Of Science And Technology ने चौथे BRICS-Young Scientist Forum(YSF), 2019 के लिए ब्राज़ील भेजा गया था.
  • रवि की ये डिवाइस उन छोटे ग्रामीण किसानों के बहुत काम आएगी, जिन्हें दूध बेचने घर-घर जाना होता है और उसे देर तक ठंडा रखने का उनके पास कोई साधन नहीं होता. हिंदुस्तान से हुई बातचीत में रवि ने बताया कि वो ख़ुद भी
    तीन साल पहले तक बिहार के समस्तीपुर की एक डेरी मे काम कर चुके हैं. जहां उन्होंने इस परेशानी से किसानों को दो-चार होते हुए देखा. दूध का टेम्परेचर न मेंटेन कर पाने की वजह से कई बार बड़ी मात्रा में दूध ख़राब हो जाता
    था.

उपरोक्त समाचार पर आधारित अति महत्वपूर्ण संभावित प्रश्नावली:

  1. मिल्क चिलिंग यूनिट बनाने के लिए किस भारतीय को ‘ब्रिक्स-यंग इनोवेटर प्राइज’ दिया गया? रवि प्रकाश
  2. हाल ही में रवि प्रकाश ने __ का आविष्कार करने के लिए USD 25,000 ब्रिक्स-यंग इनोवेटर प्राइज जीता है। मिल्क चिलिंग यूनिट
  3. रवि प्रकाश, जिन्होंने हाल ही में ब्रिक्स-यंग इनोवेटर प्राइज़ जीता, भारत के किस राज्य से है? बिहार
  4. रवि प्रकाश ने मिल्क चिलिंग यूनिट का आविष्कार करने के लिए ब्रिक्स-यंग इनोवेटर पुरस्कार जीता, जिसकी पुरस्कार राशि है? USD 25,000

Click here to read in English

NO COMMENTS:

Your email address will not be published. Required fields are marked *