वेंकैया नायडू ने आपातकालीन चिकित्सा के 10 वें एशियाई सम्मेलन का उद्घाटन किया

वेंकैया नायडू आपातकालीन चिकित्सा के 10 वें एशियाई सम्मेलन का उद्घाटन किया

न्यूज़ से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  • उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा है कि आपात चिकित्सा और ट्रॉमा केयर को अंतर स्नातक (अंडर ग्रेजुएट) पाठ्यक्रम में शामिल किए जाने की जरूरत है। इमरजेंसी मेडिसिन पर आयोजित एशियाई देशों के 10वें सम्मेलन को संबोधित करते हुए नायडू ने कहा कि चिकित्सा के क्षेत्र में आपात चिकित्सा और आपातकालीन देखभाल की अहम भूमिका है। आपात चिकित्सा में शुरुआती प्रबंधन और मरीजों का इलाज असल में एक विशेषज्ञता है। इसके लिए सघन प्रशिक्षण और संसाधन की जरूरत होती है। अक्सर सही समय पर इलाज जीवन और मौत का फर्क पैदा करता है।
  • नायडू ने कहा कि मेडिकल छात्रों को इमरजेंसी मेडिसिन की पूरी प्रक्रिया का प्रशिक्षण दिए जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हमें देश में समय पर और उच्च गुणवत्ता की आपात चिकित्सा मुहैया करानी होगी। ग्रामीण क्षेत्रों में भी
    इसकी सुविधा देनी होगी, क्योंकि देश के विकास में गांवों की अहम भूमिका है। ग्रामीण आबादी को अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना राष्ट्रीय विकास का महत्वपूर्ण अंग है। यह भी समान रूप से महत्वपूर्ण है कि सभी गांव
    इमरजेंसी सेवाओं के नेटवर्क से जुड़े हुए हों। व्यवस्थित इमरजेंसी मेडिकल सेवाएं आपातकालीन स्थित में जीवन बचाने में बहुत उपयोगी होती हैं।

उपरोक्त समाचार पर आधारित अति महत्वपूर्ण संभावित प्रश्नावली:

  1. नई दिल्ली में आपातकालीन चिकित्सा के 10 वें एशियाई सम्मेलन का उद्घाटन किसने किया? वेंकैया नायडू
  2. नई दिल्ली में आपातकालीन चिकित्सा के एशियाई सम्मेलन का कौन सा संस्करण शुरू हुआ? 10 वीं

Click here to read in English

NO COMMENTS:

Your email address will not be published. Required fields are marked *