विमान को टैक्सीबोट से रनवे पर लाने वाली दुनिया की पहली एयरलाइन बनी एयर इंडिया

विमान को टैक्सीबोट से रनवे पर लाने वाली दुनिया की पहली एयरलाइन बनी एयर इंडिया

न्यूज़ से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  • एअर इंडिया को दुनिया की पहली एयरलाइन बनने का गौरव मिला है जिसने यात्रियों से भरे ए-320 विमान की कॉमर्शियल फ्लाइट के लिए टैक्सीबोट का इस्तेमाल किया. टैक्सीबोट (टैक्सिंग रोबोट) का इस्तेमाल विमान को पार्किंग बे से रनवे तक खींचने के लिए जाता है.
  • इस दौरान विमान के इंजन बंद रहते हैं जिससे कीमती ईंधन बचता है और इंजन पर कम ज़ोर पड़ने से उसका ‘वियर एंड टियर’ घटता है.एयर इंडिया के सीएमडी अश्विनी लोहानी ने टैक्सीबोट के कॉमर्शियल फ्लाइट के लिए इस्तेमाल की शुरुआत दिल्ली में एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 से मुंबई के लिए एआई665 फ्लाइट को रवाना करने के साथ की.
  • पायलट की ओर से नियंत्रित टैक्सीबोट सेमी-रोबोटिक टो-बार होता है. पार्किंग बे से रनवे तक विमान को टैक्सीबोट के जरिए लाने से कार्बन इमिशन कम होता है जिससे वायु की गुणवत्ता बेहतर रहती है.
  • इन टैक्सीबोट का इस्तेमाल सिर्फ़ डिपार्टिंग फ्लाइट के लिए होता है. विमान को इस तरह पार्किंग बे से रनवे तक लाने में विमान को इंजन ऑन करने लाने की तुलना में 85% कम ईंधन का इस्तेमाल होता है.
  • ग्रीन एविएशन इको-सिस्टम की दिशा में इस पहल से बोर्डिंग गेट पर डिकंजेशन भी कम होता है.

एयर इंडिया के बारे में:

  • स्थापना: 15 अक्टूबर 1932 (टाटा एयरलाइंस के रूप में)
  • कॉमेंस्ड ऑपरेशन: 29 जुलाई 1946
  • अनुषंगी केन्द्र: इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा (दिल्ली)
  • प्राथमिक केन्द्र: केंद्र छत्रपति शिवाजी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा (मुंबई)
  • सहायक: एयर इंडिया एक्सप्रेस, एलाइनस एअर
  • चेयरमैन और एमडी: अश्वनी लोहानी
  • संस्थापक: जे आर डी टाटा

उपरोक्त समाचार पर आधारित अति महत्वपूर्ण संभावित प्रश्नावली:

  1. दुनिया की पहली एयरलाइन कौन बनी जिसने यात्रियों से भरे ए-320 विमान की कॉमर्शियल फ्लाइट के लिए टैक्सीबोट का इस्तेमाल किया? एयर इंडिया
  2. एयर इंडिया, किस विमान पर टैक्सीबोट का उपयोग करने वाली दुनिया की पहली एयरलाइन बन गई? A320 विमान
  3. इस साल की शुरुआत में, कौन सी एयरलाइन टैक्सीबोट ट्रायल पूरा करने वाली तीसरी घरेलू वाहक बनी? एयर इंडिया

NO COMMENTS:

Your email address will not be published. Required fields are marked *