वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप्स में मंजू रानी ने जीता रजत, भारत को कुल 4 पदक

वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप्स में मंजू रानी ने जीता रजत, भारत को कुल 4 पदक

न्यूज़ से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  • भारतीय मुक्केबाज़ मंजू रानी ने महिलाओं की वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप्स के 48-किलोग्राम भारवर्ग में रजत पदक जीता है।
  • पहली बार इस चैंपियनशिप में भाग ले रहीं मंजू को फाइनल में रूस की एकातेरिना पाल्टसेवा ने 4-1 से हराया।
  • 18 साल बाद यह पहला मौका है जब किसी भारतीय महिला मुक्केबाज ने अपने पदार्पण विश्व चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता हो।
  • स्ट्रांजा कप की रजत पदक विजेता मंजू से पहले एम सी मैरी कॉम वर्ष 2001 में अपने पदार्पण विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची थी।
  • मंजू के इस मुकाबले के साथ विश्व चैम्पियनशिप में भारतीय अभियान समाप्त हुआ। भारत ने एक रजत और तीन कांस्य पदक जीते। कांस्य छह बार की विश्व चैम्पियन एमसी मैरीकॉम, जमुना बोरो और लवलीना बोगोर्हेन ने जीता है।

एआईबीए वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के बारे में:

  • एआईबीए वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप और एआईबीए महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) द्वारा आयोजित द्विवार्षिक शौकिया मुक्केबाजी प्रतियोगिता हैं।
  • चैंपियनशिप पहली बार 1974 में हवाना, क्यूबा में पुरुषों के एकमात्र इवेंट के रूप में आयोजित की गई थी और पहली महिला चैंपियनशिप 25 साल बाद 2001 में आयोजित की गई थी।

उपरोक्त समाचार पर आधारित अति महत्वपूर्ण संभावित प्रश्नावली:

  1. किस भारतीय मुक्केबाज ने विश्व 2019 महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप में 48 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीता? मंजू रानी
  2. हाल ही में विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने के लिए 2001 में छह बार की चैंपियन मैरी कॉम के बाद पहली भारतीय महिला मुक्केबाज कौन बनी? मंजू रानी
  3. 2021 में कौन सा देश पुरुषों की विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप की मेजबानी करेगा? भारत
  4. 2019 AIBA महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारत ने कितने पदक जीते? 4 (एक रजत और तीन कांस्य)

NO COMMENTS:

Your email address will not be published. Required fields are marked *