रेडियो और टेलीविजन के क्षेत्र में भारत और विदेशी प्रसारकों के बीच समझौते को मंजूरी: 10.10.2019

रेडियो और टेलीविजन के क्षेत्र में भारत और विदेशी प्रसारकों के बीच समझौते को मंजूरी

न्यूज़ से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  • प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने रेडियो और टेलीविजन के क्षेत्र में भारत और विदेशी प्रसारकों के बीच समझौते को पूर्व-प्रभाव से अपनी मंजूरी दे दी है।

विदेशी प्रसारकों के साथ समझौते से निम्‍नलिखित क्षेत्र में मदद मिलेगी:

  • सार्वजनिक प्रसारक को नए दृष्टिकोण तलाशने में;
  • नई प्रौद्योगिकियों और कड़ी प्रतियोगिता से जुड़ी मांगों को पूरा करने के लिए नई रणनीतियों के संदर्भ में;
  • समाचार माध्‍यम के उदारीकरण में; और
  • वैश्वीकरण में।

मुख्‍य प्रभाव:

  • परस्‍पर आदान-प्रदान, सह-उत्‍पादक के माध्‍यम से तैयार किए गए कार्यक्रमों के प्रसारण से दूरदर्शन और आकाशवाणी के दर्शकों/श्रोताओं के बीच समता और समावेशन का वातावरण तैयार होगा। तकनीकी जानकारी, विशेषज्ञता के
    आदान-प्रदान और कामगारों के प्रशिक्षण से सार्वजनिक प्रसारकों को प्रसारण के क्षेत्र में उभरती चुनौतियों से निपटने में मदद मिलेगी।

उपरोक्त समाचार पर आधारित अति महत्वपूर्ण संभावित प्रश्नावली:

  1. किस क्षेत्र में, भारत ने हाल ही में विदेशी प्रसारकों के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं? रेडियो और टेलीविजन
  2. रेजिनाल्ड ए फेसेन्डेन द्वारा पहला वायरलेस रेडियो प्रसारण किस वर्ष किया गया था? 1906

NO COMMENTS:

Your email address will not be published. Required fields are marked *