केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री इसरो मुख्‍यालय में ध्रुव का शुभारंभ करेंगे: 10.10.2019

केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री इसरो मुख्‍यालय में ध्रुव का शुभारंभ करेंगे

न्यूज़ से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  • केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ बेंगलूरू स्थित इसरो मुख्यालय में विशिष्ट प्रधानमंत्री नवाचार शिक्षण कार्यक्रम (पीएमआईएलपी) ‘ध्रुव’ का शुभारंभ करेंगे। इस कार्यक्रम का उद्देश्‍य प्रतिभाशाली छात्रों को उनकी पूरी क्षमता का एहसास कराना और समाज के लिए योगदान देने के लिए प्रेरित करना होगा। इसरो के अध्‍यक्ष डॉ. के.सिवन, अंतरिक्ष में प्रवेश करने वाले पहले भारतीय नागरिक विंग कमांडर राकेश शर्मा एसी (सेवानिवृत्‍त), भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार प्रोफेसर के.विजय राघवन इस अवसर पर सम्‍मानित अतिथि होंगे।

‘ध्रुव’:

  • इस कार्यक्रम का नाम ‘ध्रुव’ तारे के नाम पर ‘ध्रुव’ होगा और प्रत्‍येक छात्र ‘ध्रुव तारा’ कहलाएगा। इस प्रकार छात्र अपनी उपलब्धियों के माध्यम से चमकेंगे और दूसरों के अनुसरण के मार्ग को प्रकाशित करेंगे।
  • इस कार्यक्रम में दो क्षेत्र विज्ञान और कला प्रदर्शन शामिल हैं। कुल मिलाकर 60 छात्र होंगे, जिसमें प्रत्येक क्षेत्र में 30 छात्र होंगे।
  • सरकारी और निजी स्कूलों से 9वीं से 12वीं तक के छात्रों का चयन किया जाएगा।
  • यह कार्यक्रम का पहला चरण है जिसका धीरे-धीरे अन्य क्षेत्रों जैसे रचनात्मक लेखन आदि में विस्तार किया जाएगा।

उपरोक्त समाचार पर आधारित अति महत्वपूर्ण संभावित प्रश्नावली:

  1. केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ बेंगलूरू स्थित इसरो मुख्यालय में विशिष्ट प्रधानमंत्री नवाचार शिक्षण कार्यक्रम ___का शुभारंभ करेंगे।‘ध्रुव’
  2. प्रधान मंत्री नवीन शिक्षण कार्यक्रम- ’DHRUV ’के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजियेः
  • ‘ध्रुव’दो क्षेत्रों अर्थात् विज्ञान और कला प्रदर्शन को कवर करेगा। कुल मिलाकर 60 छात्र होंगे, जिसमें प्रत्येक क्षेत्र में 30 छात्र होंगे।
  • प्रत्येक छात्र को ‘ध्रुव तारा’ कहा जाएगा।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं? दोनों

NO COMMENTS:

Your email address will not be published. Required fields are marked *