केरल सरकार ने वाहनों के लिए महिला ड्राइवरों की नियुक्ति की

न्यूज़ से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य:

  • केरल सरकार ने सरकारी कार्यालयों और सार्वजनिक क्षेत्र के प्रतिष्ठानों में महिला चालकों को नियुक्त करने का फैसला लिया.
  • मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की अध्यक्षता वाली मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला लिया गया जिससे इस क्षेत्र में दशकों से चला आ रहा पुरुषों का वर्चस्व खत्म होगा. यहां जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, समाज के सभी वर्गों में लैंगिक समानता सुनिश्चित करने के सरकार के फैसले के तौर पर महिलाओं की नियुक्ति की जाती है.
  • इसमें कहा गया है, ‘मंत्रिमंडल ने सरकारी सेवाओं और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में महिला चालकों की भर्ती करने का फैसला किया है. इसके लिए मौजूदा भर्ती नियमों में संशोधन किया जाएगा.’ सरकार ने पुलिस बल में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ाने की कोशिश के तौर पर हाल ही में 550 सदस्यों वाली पहली महिला बटालियन स्थापित की थी.
  • विज्ञप्ति में बताया गया है कि मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय खेलों में 83 पुरस्कार विजेताओं को विभिन्न सरकारी विभागों में नियुक्त करने का भी फैसला किया है.
  • इसके पहले साल 2015 में राज्य के सामाजिक न्याय विभाग के तहत काम करने वाले स्वायत्त संस्थान जेंडर पार्क ने आम महिलाओं के अनुकूल इस नई परिवहन प्रणाली की योजना बनाई थी तब उसकी ‘शी टैक्सी सेवा’ को भारी सफलता मिली थी जो इस तरह की देश की पहली चौबीसों घंटे चलने वाली सेवा थी.

‘शी-टैक्सी’ के बारे में:

  • ‘शी-टैक्सी’ महिलाओं को स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से नवंबर 2013 को राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई थी।
  • इस पहल को 2014 में सार्वजनिक नीति में नवाचार के लिए मुख्यमंत्री पुरस्कार मिला।

केरल के बारे में:

  • राजधानी: तिरुवनन्तपुरम
  • राज्यपाल: पी सतशिवम
  • मुख्यमंत्री: पिनराई विजयन

उपरोक्त समाचार पर आधारित अति महत्वपूर्ण संभावित प्रश्नावली:

  1. किस राज्य ने राज्य सरकार और पीएसयू वाहनों के लिए महिला ड्राइवरों की नियुक्ति को मंजूरी दी है? केरल
  2. केरल के वर्तमान मुख्यमंत्री कौन हैं? पिनराई विजयन
  3. ‘शी-टैक्सी’ किस राज्य सरकार की पहल है? केरल

NO COMMENTS:

Your email address will not be published. Required fields are marked *